Look Inside

श्री लक्ष्मीबाई केलकर उपाख्य वन्दनीया मौसी जी

भारत राष्ट्र और उसकी सोई हुई चेतना को जगाने के लिए वर्तमान युग में जिन महान् विभूतियों ने अद्वितीय कार्य किया है, उनमें श्रीमती लक्ष्मीबाई केलकर जिनको सम्मान से मौसी जी के नाम से सारा हिन्दू जगत जानता है, का नाम सबसे ऊपर आने योग्य है। नारी अपनी संतान को महाराणा प्रताप और शिवाजी जैसे गुण देकर वंदनीय बन जाती है। मौसी जी का भरा पूरा परिवार था। उसका दायित्व निभाते हुए भी उन्होंने भारत में राष्ट्र सेविका समिति के रूप में एक संगठन स्थापित किया जिसने नारी शक्ति को जगा दिया। उनका पावन चरित्र अत्यंत प्रेरणादायक है।

10.00

50 in stock

SKU: VBB006 Categories: ,

भारत राष्ट्र और उसकी सोई हुई चेतना को जगाने के लिए वर्तमान युग में जिन महान् विभूतियों ने अद्वितीय कार्य किया है, उनमें श्रीमती लक्ष्मीबाई केलकर जिनको सम्मान से मौसी जी के नाम से सारा हिन्दू जगत जानता है, का नाम सबसे ऊपर आने योग्य है। नारी अपनी संतान को महाराणा प्रताप और शिवाजी जैसे गुण देकर वंदनीय बन जाती है। मौसी जी का भरा पूरा परिवार था। उसका दायित्व निभाते हुए भी उन्होंने भारत में राष्ट्र सेविका समिति के रूप में एक संगठन स्थापित किया जिसने नारी शक्ति को जगा दिया। उनका पावन चरित्र अत्यंत प्रेरणादायक है।

Weight 70 g
Dimensions 3 × 13 × 22 cm
Language

Hindi

Pages

68+2

Binding

Paperback

Author

Dr. Himmat Singh Sinha

Publisher

Vidya Bharti Sanskriti Shiksha Sansthan

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “श्री लक्ष्मीबाई केलकर उपाख्य वन्दनीया मौसी जी”