Look Inside

भगिनी निवेदिता

भारत का नव निर्वाण करने वाले महान् परिव्राजक स्वामी विवेकानंद की परम शिष्या भगिनी निवेदिता आयरलैंड में पैदा हुई थीं परन्तु स्वामी जी के प्रभाव से उन्होंने अपना जीवन भारतीय संस्कृति की अखंड और अदम्य पुजारी बनने, मानवता की सेवा और भारतीय संस्कृति के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया। शिक्षा क्षेत्र में स्वामी विवेकानन्द की मानव निर्माण शिक्षा की संकल्पना की सारे देश में प्रशस्ति करके सोये हुए राष्ट्र को जगा दिया। उनका यह संक्षिप्त जीवन चरित्र सेवा और समर्पण की कहानी है।

15.00

50 in stock

SKU: VBB005 Categories: ,

भारत का नव निर्वाण करने वाले महान् परिव्राजक स्वामी विवेकानंद की परम शिष्या भगिनी निवेदिता आयरलैंड में पैदा हुई थीं परन्तु स्वामी जी के प्रभाव से उन्होंने अपना जीवन भारतीय संस्कृति की अखंड और अदम्य पुजारी बनने, मानवता की सेवा और भारतीय संस्कृति के उत्थान के लिए समर्पित कर दिया। शिक्षा क्षेत्र में स्वामी विवेकानन्द की मानव निर्माण शिक्षा की संकल्पना की सारे देश में प्रशस्ति करके सोये हुए राष्ट्र को जगा दिया। उनका यह संक्षिप्त जीवन चरित्र सेवा और समर्पण की कहानी है।

Weight 60 g
Dimensions 2 × 14 × 21 cm
Language

Hindi

Pages

36+2

Binding

Paperback

ISBN

ISBN 9789385256431

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “भगिनी निवेदिता”