श्री अरविन्द का राष्ट्र को आह्वान

Shri Arvind Ka Rashtra Ko Ahvaan

60.00

5 in stock

SKU: 44d2d805b615 Category:

 श्री अरविंद महान युग प्रवर्तक थे| वे प्रभावी वक्ता, समर्थ लेखक, कुशल संगठक,  योग्य मार्गदर्शक तथा नवयुवकों के प्रेरणा स्त्रोत थे| वे जीवन भर दीप स्तम्भ बन कर रहे |उनकी दृष्टी वर्तमान की अपेक्षा भविष्य पर अधिक टिकी रहती थी| भारत के चिंतन सत्य स्वरुप को पहचान कर प्रखर राष्ट्रवाद को अपनाने का उन्होंने तरुणों को आव्हान किया| पाश्च्यात्य राजनीती पर आधारित भारतीय स्वाधीनता को उन्होंने आध्यात्मिकता की वेदी पर अधिनिष्ठित किया और वे भारतीय राष्ट्रीयता के अग्रदूत बन गए|

१. संक्षिप्त जीवन परिचय 

२. दुर्गा स्तोत्र 

३. अमर भारत 

४. हमारी ज्ञान परंपरा 

५. पश्चिम और हम 

६. स्वाधीन भारत का लक्ष्य

७. आव्हान तरुणाई को 

8. स्फुट विचार

९. उत्तपिडा भाषण 

१०. एक ऐतिहासिक पत्र

११. १५ अगस्त का भाषण 

 

Weight 082.00 g
Publisher

Suruchi Prakashan