विश्व चैतन्य का विज्ञान

प्रस्तुत पुस्तक विश्व चैतन्य का विज्ञान शायद इस सामान्यतः स्थापित धारणा की नींव को कमजोर करेगी , विशेषकर प्रथम दो आलेख – अध्यात्म ‘ तथा ‘ विज्ञान और अध्यात्म ‘ ही । ‘ विश्व चैतन्य ‘ अध्यात्म का विषय है । क्या उसका भी कोई विज्ञान है या हो सकता है ? विज्ञान को जिन अर्थों में आज परिभाषित किया जाता है , उसका कोई सम्बन्ध उस विश्व चैतन्य से जुड़ता है क्या ? ऐसे अनेक उलझे हुए प्रश्नों के उत्तर यह पुस्तक आपको दे सकती है ।

80.00

50 in stock

SKU: VBC009 Category:

प्रस्तुत पुस्तक विश्व चैतन्य का विज्ञान शायद इस सामान्यतः स्थापित धारणा की नींव को कमजोर करेगी , विशेषकर प्रथम दो आलेख – अध्यात्म ‘ तथा ‘ विज्ञान और अध्यात्म ‘ ही । ‘ विश्व चैतन्य ‘ अध्यात्म का विषय है । क्या उसका भी कोई विज्ञान है या हो सकता है ? विज्ञान को जिन अर्थों में आज परिभाषित किया जाता है , उसका कोई सम्बन्ध उस विश्व चैतन्य से जुड़ता है क्या ? ऐसे अनेक उलझे हुए प्रश्नों के उत्तर यह पुस्तक आपको दे सकती है ।

Weight 176.000 g
Dimensions 21.4 × 13.7 × 0.8 cm
Language

हिन्दी

ISBN

ISBN 978-93-85256-61-5

Blinding

Pages

160+2

Author

Dr. Raghunath Narayan Shukl

Publisher

Vidya Bharti Sanskriti Shiksha Sansthan

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “विश्व चैतन्य का विज्ञान”