लघु बाल कथाएँ

Laghu Bal Kathaen

15.00

5 in stock

SKU: 3317605d66c6 Category:

 अच्छे बाल-साहित्य का हिंदी में आत्यन्तिक आभाव तो नहीं है, किन्तु जो है उसे पर्याप्त या संतोषजनक तो कदापि नहीं कहा जा सकता – परिणाम की दृष्टी से भी और गुणवत्ता की दृष्टी से भी | और निश्चय ही यह चिंता की बात है, क्योंकि कल के अच्छे भविष्य के लिए आज की बाल पीढ़ी का सम्यक विकास हमारी वर्तमान वयस्क पीढ़ी का ही दायित्व है |प्रस्तुत कहानी संग्रह के लेखक श्रीनिवास वत्स जाने-माने बाल-कहानी-लेखक गई | उनकी इन रचनाओं में मनोरंजन का तत्व तो भरपूर है ही, जो बालक-बालिकाओं की रूचि जाग्रत करने के लिए आवश्यक है, साथ ही ये उद्देश्यपरक भी है | हम कल के नागरिकों से किस दिशा में विकास की अपेक्षा रखते है, यह इनमें सहज समाहित भाव है | आशा है हमारे प्यारे-प्यारे बाल पाठक और उनके अभिभावक तथा शिक्षक इस कृति को रोचक एवं उपयोगी पायेंगे |

Weight 037.00 g
Publisher

Suruchi Prakashan